Follow us
HOME
CONTACT

Notifications by JRV

                जनहित में आवश्यक सूचना

 

  1. सर्व साधारण को सूचित किया जाता हैं कि किसी भी विश्व विद्यालय , इंस्टिट्यूट , संस्था से पैरा मेडिकल कोर्स जैसे - DMLT , DX -RT , DMRT , ANM , GNM , DPT , DDHT ,ECG , DOT , DOA , आदि में प्रवेश लेने से पहले यह आवश्य जानकारी प्राप्त क्र ले कि कोर्स उत्तीर्ण के बाद रजिस्ट्रेशन कहाँ से होगा ! चूँकि बिना रजिस्ट्रेशन कोर्स कि वैधता नहीं हैं !
  2. किसी भी विश्व विद्यालय , इंस्टिट्यूट , संस्था से नेचुरोपैथी कोर्स जैसे - ND , DNYS , MD , आदि में प्रवेश लेने से पहले यह आवश्य जानकारी प्राप्त क्र ले कि कोर्स उत्तीर्ण के बाद रजिस्ट्रेशन कहाँ से होगा ! चूँकि बिना रजिस्ट्रेशन चिकित्सा व्यवसाय करना कानूनन अपराध हैं !
  3. सूचना अधिकार अधिनयम 2005 के उत्तर में यू . पी. स्टेट मेडिकल फैकल्टी ने अपने पत्रांक 6156 /2016 दिनांक 06 .06 .2016 को बताया हैं कि पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी पंजाब , विनायक मिशन यूनिवर्सिटी (एपी) , इंदिरा गाँधी मुक्त विश्व विद्यालय दिल्ली द्वारा आदि द्वारा संचालित पैरामेडिकल प्रशिक्षण DMLT , DX - RT , DMLT , ANM , GNM , DPT , DDHT ,ECG , DOT , DOA , इत्यादि कोर्सेज का पंजीकरण यू . पी. स्टेट मेडिकल फैकल्टी में नहीं किया जाता हैं ! 
  4. यू . पी. स्टेट मेडिकल फैकल्टी ने अपने पत्रांक 1257 /2015 दिनांक 12 .12 .2015 कि अपने पत्र में लिखा हैं कि पैरामेडिकल से संबधित राष्ट्रीय /प्रदेश स्तर पर कौंसिल का गठन नहीं हुआ हैं ! प्रदेश में यू . पी. स्टेट मेडिकल फैकल्टी सन 1926 से इंडियन मेडिकल डिग्रीज एक्ट - 1916 के अंतर्गत कार्यवाही कर रही हैं !
  5. सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के उत्तर में उत्तर प्रदेश होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड ने अपने पत्रांक 2825 / एच् o एम o बी o /62 / ज o सू o / 2014 टीसी दिनांक 10 -12 -2014 को बताया हैं कि होम्योपैथिक में पैरामेडिकल कोर्सो के संचालन का प्रावधान नहीं हैं !
  6. सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के उत्तर में कार्यालय , निदेशक , होम्योपैथी , उत्तर प्रदेश , आठवां तल , इंदिरा भवन , लखनऊ ने अपने पत्रांक संख्या - नि o हो o / 80 / 06 / 422 दिनांक 15 - 01 - 2015 को बताया हैं कि शासन के निर्देशानुसार होम्योपैथी में दो वर्षीय होम्योपैथिक फार्मासिस्ट प्रशिक्षण संचालित होता हैं ! यह जनता को गुमराह करने वाली सूचना हैं !

 

              पारा मेडिकल क्षेत्र में हैं रोजगार के अवसर, भविष्य बनाये

 

वर्तमान में चिकित्सा के क्षेत्र में नये- नये अनुसंधान - परीक्षण के चलते पारा मेडिकल प्रशिक्षित स्टाफ कि आवश्यकता दिनों - दिन बढ़ती जा रही हैं पारा मेडिकल जीवक राष्ट्रीय विद्यापीठ के रोजगार परक लगभग 40 पारा मेडिकल कोर्सेज दूरस्थ शिक्षा (Distance Education ) के माध्यम से संचालित हो रही हैं ! जीवक राष्ट्रीय विद्यापीठ ने पारा मेडिकल स्नातकों के लिए प्रशिक्षण एवं प्रैक्टिकल ट्रेनिंग की व्यवस्था की हैं ! प्रशिक्षित पारा मेडिकल टेक्नीशियन देश के सरकारी व् निजी अस्पतालों, क्लीनिक , नर्सिंग , होमो , हेल्थ केयर सेंटरो में सेवारत हैं और यह सभी कोर्स सरकारी सेवा , पदोन्नति में सहायक हैं ! जीवक राष्ट्रीय विद्यापीठ से रेजिस्ट्रेड स्नातक भारत व् विदेशो में नौकरी क्र रहे हैं !

 

पारा मेडिकल जीवक राष्ट्रीय विद्यापीठ ने भारत सरकार से RTI Act के अंतर्गत पूछे गए प्रश्नो पर स्पष्ट किया हैं ! कि स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार , मेडिकल कॉउन्सिल ऑफ़ इंडिया , डेंटल कॉउन्सिल , नर्सिंग कॉउन्सिल , केंद्रीय भारतीय चिकित्सा परिषद , केंद्रीय होम्योपैथी परिषद् व् विश्व विद्यालय अनुदान आयोग (UGC ) आदि ने बताया कि पारा मेडिकल कोर्सो के संचालन हेतु कोई एक्ट एवं शासनादेश नहीं बनाया हैं ! स्वास्थ्य  मंत्रालय भारत सरकार के पत्रांक फ . नो. 28019 /25 /2012 - PMS दिनांक 23 अगस्त 2012 एवं अन्य पत्रों द्वारा स्वीकृति के आधार पर पारा मेडिकल जीवक राष्ट्रीय विद्यापीठ से उर्त्तीण छात्र सरकारी / अर्द्धसरकारी अस्पतालों में वेकेंसी निकलने पर आवश्यकतानुसार पारा मेडिकल कोर्स उर्त्तीण स्नातकों लो नौकरी में लिया जाता हैं ! पारा मेडिकल कोर्स नेशनल लेवल पर नौकरी में मान्य हैं !

 

There are Job opportunities’ in the Para Medical field, create the future

 Dear Sir,

              The objective of the organization is to protect the public health and promote the medical science course. Removing unemployment amongst the society and providing medical services to the neglected rural areas, so people are benefitting.

 Employment opportunities in Para Medical area make future.

Presently, the need for Para – Medical trained staff is increasing day by day due to new research trials in the field of medicine. Nearly 40 Para – Medical Courses are being operated through ( Distance learning ) of Para Medical Jeevak Rashtriya Vidhyapeeth Faculty training for para-medical graduates and Practical training is arranged. Trained papa-medical technicians are serving government and private hospitals,clinics,nursing homes,health care services. Registered graduates with faculty are working in India and aboard.

Jeevak Rashtriya Vidhyapeeth has been asked by the Government of India. On the quetions asked under the Buzz, it has been clearified that the Ministry of Health, Government of India , Medical council of India , Dental Council ,Nursing Council , Central Indian Medical Council , Central Homopathy Council and university Grant Commission (UGC) etc. informed that no the basis of acceptance by the ministry of Health , Government of India no.28019 /25 /2012 - PMS dated August 23,2012 and other letters, Jeevak Rashtriya Vidhyapeeth students passing out of Para Medical Course , as per the requirement for getting backcity in government/semi - government hospitals. Para Medical course is accepted in the job at the national level. 




Our Gallery